पथरी के लक्षण व घरेलु इलाज – Desi nuskhe in hindi

pathri ka ilaj, pitte ki pathri ka desi ilaj in hindi, pathri ka ayurvedic ilaj in hindi, desi nuskhe in hindi , gharelu upchar in hindi, dadi maa ke gharelu nuskhe, dadi maa ke gharelu nuskhe in hindi, health tips in hindi, home remedies in hindi , baba ramdev ka ilaj in Hindi

200
pathri ka ilaj, pitte ki pathri ka desi ilaj in hindi, pathri ka ayurvedic ilaj in hindi, desi nuskhe in hindi , gharelu upchar in hindi, dadi maa ke gharelu nuskhe, dadi maa ke gharelu nuskhe in hindi, health tips in hindi, home remedies in hindi , baba ramdev ka ilaj in Hindi
pathri ka ilaj, pitte ki pathri ka desi ilaj in hindi, pathri ka ayurvedic ilaj in hindi, desi nuskhe in hindi , gharelu upchar in hindi, dadi maa ke gharelu nuskhe, dadi maa ke gharelu nuskhe in hindi, health tips in hindi, home remedies in hindi , baba ramdev ka ilaj in Hindi
loading...

पथरी के लक्षण व घरेलु इलाज

आज कल पथरी एक बहुत आम समस्या हो गई है, जो किसी भी उम्र के लोगों को हो जाती है. जिसमें किडनी स्टोन ही सबसे ज्यादा लोगों को होता है. यूरिन में मौजूद केमिकल फोस्फोरस, कैल्शियम, यूरिक एसिड,  ओक्सालिक एसिड मिलकर पथरी बनाते है. आजकल हर चोथे इन्सान को ये बीमारी है| किडनी स्टोन वैसे ज्यादातर किडनी में ही बनती है, लेकिन कुछ केस में ये मूत्रमार्ग या गाल ब्लाडर में भी हो जाती है पथरी होने के कारण यूरिन में केमिकल की अधिकताडाइट का गड़बड़ानाजंक फ़ूड का अधिक सेवनशरीर में मिनिरल की कमीविटामिन डी की अधिकताडीहाईड्रीशन पथरी के लक्षणयूरिन का अधिक आनायूरिन में दर्द बनना बुखारज्यादा पसीना निकलनाउलटी आनापेट दर्द रहना  पथरी जितनी बड़ी होगी दर्द उतना अधिक होता है| समय के साथ साथ ये बढती जाती है, इसलिए शुरुवात में ही आपको ऐसे कोई लक्षण जो उपर दिए है दिखाई देगे जिनसे आप सतर्क हो जाएँ. पथरी का इलाज हमारी मेडिकल की दुनिया में आसान है| लेकिन इसके लिए खर्च अधिक होता है| इसका इलाज आयुर्वेदिक तरीके से भी हो सकता है, हम आज आपको यही तरीके बताने जा रहे है | वेसे पथरी होने पर आप अधिक से अधिक मात्रा में पानी व कोई भी तरल पदार्थ लेते रहे| इसलिए यूरिन अधिक आएगी जिससे शरीर की गन्दगी निकल जाएगी| 

पथरी को ठीक करने के घरेलु उपचार ·

नीम्बू का रस व ओलिव आयल

नीम्बू का रस व ओलिव आयल का कॉम्बिनेशन गाल ब्लाडर की पथरी को ठीक करने में बहुत अधिक कारीगर है. इससे किडनी स्टोन को भी बिलकुल ठीक किया जाता है. नीम्बू में मौजूद (साईट्रिक एसिड) कैल्शियम से बनने वाली पथरी को शरीर के अंदर ही गला देता है व उसकी ग्रोथ को पूर्णत ख़त्म करता है| नीम्बू के रस में बराबर मात्रा में ओलिव आयल मिलाएं| इससे जरूरत के हिसाब से पानी के साथ पियें| इस प्रक्रिया को दिन में 2-3 बार करने से 3 से 4 दिनों में निकल जाएगी|अगर आपकी पथरी एक ही खुराक के बाद निकल जाये तो आप इस प्रक्रिया को आगे जारी ना रखें|Ø  अगर आपकी पथरी का साइज़ बड़ा है तो इस प्रक्रिया को ना ही करे बल्कि पहले डॉक्टर से जांच पड़ताल जरुर करवा लें.

विनेगर

एप्पल विनेगर किडनी स्टोन को डीसोल्व करता है| लेकिन इसमें क्षारिय गुण है जो खून व यूरिन को इफ़ेक्ट करता है| 1 कप गुनगुने पानी में 2 चम्मच विनेगर व 1 चम्मच शहद मिलाएं व् दिन में 1-2 बार इसे पियेंअनारअनार के दाने व जूस दोनों किडनी स्टोन को बाहर निकालने में सहायक होते है| अनार के दाने या 1 गिलास अनार के जूस को रोज ले| आपको ये ज्यादा पसंद ना हो तो आप इसके कुछ दाने सलाद के रूप में खा सकते है इसके अलावा 1 tbsp अनार के दाने को पीस कर पेस्ट बना लो अब इसे उबले काले चनो के साथ खाएं, या उसका सूप बनाकर पियें| इससे शरीर के अंदर ही स्टोन नष्ट हो जाती है|

तुलसी

तुलसी किडनी की कोई भी बीमारी के लिए बहुत अच्छी औषधि होती है साथ ही ये शरीर के पुरे ओरगंस को भी स्वस्थ रखती है| 1 tbsp तुलसी का रस व शहद को मिलाएं फिर इसे रोज सुबह कुछ महीने तक लगातार पियें. इसके अलावा आप तुलसी की कुछ पत्तियां भी चबा लो या चाय बनाकर पी सकते है|

तरबूज

तरबूज पथरी को दूर करने के लिए बहुत अच्छा स्त्रोत मन गया है. तरबूज में पोटेशियम होता है जो किडनी को मजबूत बनाने में मदत करता है| ये यूरिन में एसिड लेवल को बराबर करता है| पोटेशियम के साथ इसमें पानी की मात्रा भी अधिक होती है| इसे खाने से शरीर में पानी बढ़ता है व पथरी यूरिन के द्वारा आसानी से निकल जाती है| रोज तरबूज खाने से किडनी स्टोन आसानी से बाहर हो जाती है|

अंगूर

अंगूर का सेवन ऐसे में बहूत अच्छा होता है, इसमें पोटेशियम व नमक होता है और साथ ही पानी भी पाया जाता है जो किडनी को गला देता है|

प्याज

प्याज में कई औषधि गुण है जो कई बीमारियों से बचाता है. 2 प्याज को 1 गिलास पानी में में डालकर धीमी आंच में पकाए, पकने पर उसे ठंडा कर लें| अब प्याज को मिक्सी में पिसने के बाद छान कर रस निकाल ले अब इसे 1-2 दिन तक पियें|पथरी का दर्द बहुत ही पीढ़ादायक होता है, आपको जब भी ज्यादा दर्द हो तो आप करीबी डॉक्टर को जरुर दिखाएँ.

pathri ka ilaj, pitte ki pathri ka desi ilaj in hindi, pathri ka ayurvedic ilaj in hindi, desi nuskhe in hindi , gharelu upchar in hindi, dadi maa ke gharelu nuskhe, dadi maa ke gharelu nuskhe in hindi, health tips in hindi, home remedies in hindi , baba ramdev ka ilaj in Hindi

Status in Hindi
loading...