माहवारी के दौरान सेक्स सम्बंधित आवश्यक बाते |

612
loading...

माहवारी के दौरान शाररिक संबंद्ध बनाने में कोई नुकसान नहीं है

ये एक आम धारना है कि माहवारी के दौरान होने वाला रक्तस्त्राव गन्दा होता है और इसके लिंग के संपर्क में आने से गुप्तांग को नुकसान हो सकता हैI ये बिलकुल बकवास है दरअसल यह रक्त सामान्य रक्त और बेकार कोशिकाओं का मिश्रण होता है गर्भाशय में हर महीने गर्भ धारण करने कि तैयारी में काम आता हैI इस रक्त का लिंग के संपर्क में आना कोई नुक्सान नहीं पहुंचा सकता बल्कि ये तो शाररिक संबंद्ध के दौरान प्राकर्तिक लुब्रीकेंट का काम करता हैI
एक और गलत धारणा ये है की माहवारी के दौरान शाररिक संबंद्ध करने पर लिंग गर्भाशय को चोट पहुंचा सकता है परन्तु रक्तस्त्राव गर्भाशय के एक छिद्र के ज़रिये होता है लेकिन यह छिद्र इतना छोटा होता है लिंग का इसमें प्रवेश असंभव हैI माहवारी के दौरान संबंद्ध करने का महिला के गर्भाशय या किसी और अंग के लिए कोई नुकसान नहीं हैI

माहवारी से महिलाओं कि सेक्स इच्छा में बढ़ोतरी होती है या नहीं

महिलाएं माहवारी के दिनों में सामान्य से अधिक कमुतेजना महसूस करती हैं और इसके पीछे अलग अलग लोगों कि अलग राय हैI ‘द हार्मोन क्योर’ नामक पुस्तक कि लेखिका डॉ सारा गोतफ्राइड का कहना है कि माहवारी शुरू होने से ठीक पहले महिला के शरीर में एस्ट्रोजन हार्मोन कि कमी होती है और आनेवाले दिनों में ये मात्र बढ़ने लगती है बढ़ते एस्ट्रोजन के साथ टेस्टोस्टेरोन हार्मोन भी बढ़ने लगता है और इसी के कारण  कामोतेजना भी बढ़ जाती हैI
महिला जननांग में बढ़ा हुआ रक्त प्रवाह और लुब्रिकेशन भी बढ़ी हुई सेक्स इच्छा का करणं हो सकता हैI इस दौरान गर्भ ठहरने  का खतरा भी कम होता है और शायद इसी लिए महिलाएं दबाव महसूस नहीं करती और सेक्स का भरपूर लुत्फ़ उठा सकती हैंI
माहवारी के दौरान ओर्गास्म, माहवारी के दौरान होने वाले बढ़े हुए दर्द से छुटकारा दिला सकता हैI कुछ वैज्ञानिकों का मानना है सेक्स माहवारी के दर्द से निजात दिला सकता हैंI
इन दिनों सेक्स करने पर माहवारी जल्दी ख़त्म होने की भी सम्भावना रहती हैI और इसकी वजह ये हैं सेक्स के चलते माहवारी के रक्त स्त्राव में वृद्धि होती हैI

ज्यादातर लोग माहवारी के समय अपने पार्टनर के साथ सेक्स करना पसंद नहीं करते। लेकिन माहवारी के समय सेक्स करने से आपको ऐंठन/मरोड़ से आराम मिलता है। शोध के मुताबिक माहवारी के समय सेक्स करने से दर्द में कमी आती है।  यह धारणा गलत है की आप माहवारी के समय भी गर्भधारण कर सकती हैं। उन महिलाओं का जिनका महावारी चक्र 28 दिनों से कम होता है उन्हें गर्भधारण की संभावना अधिक होती है।माहवारी के समय व्यायाम मरोड़/ऐंठन को कम करता है क्योंकि व्यायाम मांसपेशियों में ऑक्सीजन की आपूर्ति बढ़ाता है जिससे शरीर को आराम मिलता है।

Status in Hindi
loading...